Nationalदेश

बढ़ती गर्मी में कोयले की कमी कर सकती है बेहाल,Bijli संकट होना तय

गर्मी का मौसम आ चुका है। गर्मी का हाल तो पूछिए ही मत मई जून में होने वाली गर्मी मार्च से ही पड़ना शुरू हो गई है। देश के कई राज्यों में गर्मी अपने चरम पर है और इस बीच Bijli कटौती का बड़ा संकट खड़ा हो सकता है। अधिकारियों के मुताबिक देश में Bijli की मांग 38 साल के उच्चतम स्तर पर है और कोयले की सप्लाई बीते 9 सालों में सबसे कम है। प्री-समर सप्लाई कम होने के चलते आने वाले दिनों में Bijli का संकट सामने आ सकता है।

देश के कई हिस्सों में Bijli कटौती की शुरुआत हो चुकी है। एक तरफ गर्मी चरम पर है तो वहीं दूसरी तरफ Corona संकट के बाद इंडस्ट्रीज ने रफ्तार पकड़ी है और वहां भी Bijli की डिमांड काफी ज्यादा है। ऐसे में Bijli संकट पैदा होना लाज़मी है। पंजाब, यूपी, बिहार, आंध्र प्रदेश, झारखंड, मध्य प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान और तेलंगाना में बीते कुछ दिनों पावर कट बढ़ गया है। महाराष्ट्र देश के प्रमुख औद्योगिक राज्यों में से एक है और कोयले की सप्लाई के चलते अब अनिवार्य कटौती की ओर बढ़ रहा है। इस बीच गुजरात और तमिलनाडु ने आपूर्ति बनाए रखने के लिए अधिक कीमत पर बिजली की खरीद शुरू कर दी है ताकि कटौती से बचा जा सके।

डिमांड के मुकाबले बीते सप्ताह देश में 1.4 फीसदी Bijli की कमी रही है। इससे पहले बीते साल अक्टूबर में ऐसी स्थिति पैदा हुई थी, तब यह कमी 1 फीसदी की ही थी। यानी इस बार संकट बीते साल के मुकाबले अधिक है। 11 अप्रैल को महाराष्ट्र के Bijli विभाग ने कहा कि उसने अब अनिवार्य कटौती की शुरुआत कर दी है। राज्य में 2,500 मेगावॉट Bijli की कमी है। आकलन के मुताबिक एक और औद्योगिक राज्य आंध्र प्रदेश में भी Bijli की आपूर्ति में 8.7 फीसदी की कमी देखी जा रही है। इसके चलते राज्य में Bijli की कटौती में इज़ाफ़ा हो गया है।

यह भी पढ़ें – अब छात्रों को नहीं होगी परेशानी,Lucknow University से जुड़े 6 कॉलेज

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button