BusinessNationalPoliticsTop Storiesदेश

जानें, PM Modi ने किन राज्यों से Petrol-Diesel पर वैट कम करने की अपील की

महंगाई से लोगों का बुरा हाल है। अपनी गाड़ी से कहीं जाने से पहले दस बार सोचना पड़ता है कि न जाने कितना Petrol ख़र्च हो जाएगा। देश में Corona को लेकर समीक्षा बैठक के दौरान PM Narendra Modi ने बढ़ती ईंधन की क़ीमतों का मुद्दा भी उठाया। PM Modi ने कहा कि केंद्र ने पिछले साल ईंधन की क़ीमतों पर उत्पाद शुल्क कम किया था। राज्यों की भी ज़िम्मेदारी है कि वे भी ऐसा करें।

PM Modi ने कहा कि केन्द्र द्वारा उत्पाद शुल्क में कटौती के बाद कुछ राज्यों ने Petrol, Diesel पर करों में कटौती नहीं की, यह लोगों के साथ अन्याय है। PM Modi ने उन राज्यों से ईंधन पर वैट कम करने का आग्रह किया, जिन्होंने ऐसा नहीं किया है। महाराष्ट्र, बंगाल, तेलंगाना जैसे राज्यों में ऊंची दरों का ज़िक्र किया। उन्होंने कहा, “केंद्र ने पिछले नवंबर में ईंधन की कीमतों पर उत्पाद शुल्क कम किया और राज्यों से भी कर कम करने का अनुरोध किया। कुछ राज्यों ने भारत सरकार की भावना के अनुरूप टैक्स कम कर दिया लेकिन कुछ राज्यों ने अपने लोगों को इसका कोई लाभ नहीं दिया। इस वजह से इन राज्यों में Petrol, Diesel की कीमतें अन्य राज्यों के मुकाबले कहीं ज्यादा हैं।”

PM Modi ने कहा, “यह एक तरह से इन राज्यों के लोगों के साथ अन्याय तो है ही, साथ ही पड़ोसी राज्यों को भी नुकसान पहुंचाता है। मैं किसी की आलोचना नहीं कर रहा हूं, लेकिन महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, केरल, झारखंड, तमिलनाडु से अनुरोध करता हूं कि अब वैट कम करें और लोगों को लाभ दें।”

PM Modi ने भाजपा शासित कर्नाटक का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि जो राज्य टैक्स में कटौती करते हैं उन्हें राजस्व की हानि होती है। PM Modi ने कहा, “जैसे अगर कर्नाटक टैक्स में कटौती नहीं करता तो उसे इन 6 महीनों में 5 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का राजस्व मिलता। अगर गुजरात ने टैक्स कम नहीं किया होता तो उसे भी साढ़े तीन चार हजार करोड़ रुपये का राजस्व मिलता।”

यह भी पढ़ें – Cannes Film Festival में Deepika Padukone की एंट्री होगी ख़ास, बनीं मेन ज्यूरी मेंबर

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button