NationalPoliticsदेश

नहीं होगी सड़क पर Namaz, जानें कैसे होंगे आख़िरी जुमे पर इंतज़ाम

Corona का प्रकोप एक बार फिर से देखने को मिल रहा है ऐसे में यूपी के प्रयागराज में इस बार कोशिश है कि सड़कों पर Namaz न हो। कमेटियों, उलेमाओं और पेश इमामों ने खास हिदायत दी है कि Namaz का इंतज़ाम ऐसे करें कि दूसरों को परेशानी न हो। अलविदा यानी आख़िरी जुमे को लेकर मुस्लिम इलाकों में खासी तैयारी चल रही है।

एक तरह से छोटी ईद कहलाने वाले रमज़ान के आख़िरी जुमे पर अलविदा की Namaz अदा होती है। एक तो अज़ान की आवाज़ और दूसरे सड़कों पर Namaz अदा करने को लेकर विवाद, इसी में भीषड़ गर्मी। ऐसे में इस बार ज़्यादातर मस्जिदों, मदरसों समेत अन्‍य इबादतगाहों के अंदर ही Namaz के इंतज़ाम किए जा रहे हैं।

हार साल ही रमज़ान के आख़िरी जुमे पर बेहद ख़ास तरह से ख़ुशी मनाई जाती है। गौरतलब है कि अलविदा की Namaz के लिए शहर से लेकर गांवों तक ईद जैसी भीड़ ही उमड़ती है। मस्जिदों की छतों, दूसरी मंजिलों पर सफाई कर टेंट या छावनी का इंतज़ाम किया जा रहा है। पंखे और कूलर भी मंगाए जा रहे हैं ताकि Namaz और ख़ुतबा सुनने वालों को दिक्‍कत न हो। कई बड़े मदरसों में इस बार अलविदा की Namaz का इंतज़ाम किया गया है। जो इलाके पूरी तरह मुस्लिम आबादी वाले हैं वहां मस्जिदों के सामने या फिर सड़क पर Namaz हो सकती है। मिलीजुली आबादी वाले इलाकों में कोशिश है कि मस्जिदों के अंदर ही Namaz अदा हो।

यह भी पढ़ें – मायूस हो रहे हैं नौजवान, Job की उम्मीद छोड़ चुके हैं आधे भारतीय

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button