Karwa Chauth 2022: इस बार कहां, कितने बजे निकलेगा करवा चौथ का चांद, जानने के लिए यहां पढें

करवा चौथ का शुभ त्योहार हर सुहागन के लिए सबसे खास होता है। इस दिन सुहागन महिलाएं अपने पति की दीर्घ आयु के लिए व्रत रखती हैं। जिसमें वो पूरे दिन एक पानी की बूंद भी ग्रहण नहीं करती हैं यानी कि निर्जला व्रत रखती हैं। करवा चौथ को कारक चतुर्थी के नाम से भी जाना जाता है जिसे इस साल गुरुवार 13 अक्टूबर को मनाया जा रहा है। मार्केट में करवा चौथ की काफी रौनक देखने को मिल रही है।

पर्व को लेकर बाजारों में भीड़ बढ़ने से व्यापारी भी उत्साहित दिखाई दे रहे हैं। इस दौरान कुछ महिलाएं रंग-बिरंगी चूड़ियों की खरीदारी में लगी रहीं, तो कुछ मेहंदी लगाने के लिए पति के पसंदीदा डिजाइन को ढूंढ रही थीं। कहीं मेहंदी लगाने वालों की भीड़ रही तो कहीं सजने-संवरने का हुजूम देखा गया। इस दौरान बड़ी संख्या में महिलाएं सामूहिक रूप से मेहंदी लगवाती नजर आयीं। बाजारों से महिलाओं ने श्रृंगार (चूडियां, बिंदी, लिपिस्टक) के साथ-साथ पूजा संबंधी सामान आदि की जमकर खरीदारी की।

करवा चौथ की पूजन विधि:-

करवा चौथ वाले दिन महिलाएं एक नयी नवेली दुल्हन की तरह से तैयार होती हैं। करवा चौथ की पूजा करने लिए शाम को महिलाएं एकत्र होती हैं और उसके बाद करवा चौथ की कहानी पढ़ती हैं। चांद को देखकर उपवास खोलती हैं। जब चांद उगता है, तो महिलाएं चांद और अपने पति को एक चलनी के माध्यम से देखती हैं। चंद्रमा से प्रार्थना करते हैं और एक प्रसाद देती हैं। और अंत में वे व्रत समाप्त करने के लिए अपने पति के हाथों से भोजन का एक निवाला और पानी का घूंट लेती हैं और अपना उपवास खोलती हैं।

करवा चौथ शुभ मुहूर्त 2022:-

चतुर्थी तिथि प्रारम्भ – 13 अक्टूबर 2022 को सुबह 01 बजकर 59 मिनट से 14 अक्टूबर 2022 को सुबह 03 बजकर 08 मिनट पर समाप्त।
करवा चौथ पूजा का सबसे उत्तम मुहूर्त- 13 अक्टूबर शाम को 5 बजकर 54 मिनट से लेकर 7 बजकर 09 मिनट तक है।
द्रिक पंचांग के अनुसार करवा चौथ के दिन चंद्रमा रात 08:09 बजे निकलेगा।
पूजा मुहूर्त शाम 05:54 बजे से शाम 07:08 बजे तक है।
व्रत का समय सुबह 06:20 बजे से रात 08:09 बजे तक रहेगा।
चतुर्थी तिथि 13 अक्टूबर को सुबह 01:59 बजे से 14 अक्टूबर को सुबह 03:08 बजे तक है।
लखनऊ में चांद रात 07:58 बजे पर निकलेगा।
नोएडा में पूजा का शुभ मुहूर्त शाम 05:53 बजे से रात 07:08 बजे तक है
लेकिन क्षेत्र में मौसम की स्थिति के अनुसार समय बदल सकता है।

करवा चौथ पर ग्रहों की चाल:-
करवा चौथ के दिन शनि स्वराशि मकर, चंद्रमा उच्च राशि वृष और कन्या राशि में बुध और शुक्र की युति बन रही है। ग्रहों के सेनापति मंगल अपने ही नक्षत्र में हैं। यह व्रत रोहिणी नक्षत्र में मनाया जाएगा। ऐसा कहते हैं कि करवा चौथ पर रोहिणी नक्षत्र में चंद्रमा की पूजा से सुहागिनों का भाग्योदय होता है और उन्हें पति की दीर्घायु का वरदान मिलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *