CareerNationalPoliticsTop Storiesदेश

Hijab विवाद: Priyanka Gandhi ने कहा, यह तय करना महिलाओं का अधिकार है कि उन्हें क्या पहनना है

कई दिनों के बाद भी Hijab पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। कर्नाटक सरकार सरकारी स्कूलों में न तो Hijab के पक्ष में है और न केसरिया के। प्रदेश के राजस्व मंत्री अशोक ने कहा, ”छात्र सड़कों पर जो चाहें पहन सकते हैं, लेकिन स्कूलों में ड्रेस कोड अनिवार्य है। हमने छात्रों की सुरक्षा के लिए एहतियात के तौर पर स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए हैं। इस राजनीति के पीछे कांग्रेस है।”

जानें, क्या है Hijab विवाद

कर्नाटक के एक कॉलेज में क्‍लास के भीतर मुस्लिम लड़कियों को Hijab पहनने के लिए मना कर दिया था। मुस्लिम छात्राओं ने इसका विरोध किया। उन्होंने इसे धार्मिक स्‍वतंत्रता करार दिया। इसके बाद Hijab के विरोध में कुछ बच्चों ने भगवा गमछे या शॉल पहनने शुरू कर दिया। इससे विवाद और बढ़ गया। मामला हाईकोर्ट तक पहुंच गया है। इस मामले पर सियासत भी लगातार जारी है। Hijab के पक्ष में मुस्लिम महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं।

CM Basavaraj Bommai के निर्देश पर प्रदेश में 3 दिन के लिए हाई स्कूल और कॉलेज बंद हैं। इस मामले में हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है। बता दें कि सरकार ने यह भी कहा है कि Hijab विवाद में जिन लोगों की गिरफ्तारी हुई है, उनमें से किसी का भी संबंध स्कूल से नहीं है। वे सभी बाहरी हैं। वहीं, नारा लगाने वाली लड़की ने कहा है कि प्रिंसिपल ने कल अचानक मुझे Hijab हटाने के लिए कहा। कॉलेज के बाहर बहुत सारे लड़के थे, जो चिल्ला-चिल्ला कर हमें डराने की कोशिश कर रहे थे। कुछ लोग ‘पाकिस्तान लौट जाओ’ जैसी बातें कर रहे थे।

इस मामले पर कांग्रेस महासचिव Priyanka Gandhi Vadra ने बुधवार को कहा कि यह फैसला करना महिलाओं का अधिकार है कि उन्हें क्या पहनना है तथा पहनावे को लेकर उत्पीड़न बंद होना चाहिए। उन्होंने “लड़की हूं, लड़ सकती हूं” हैशटैग से ट्वीट किया, “चाहे वह बिकनी हो, घूंघट हो, जींस हो या Hijab हो, यह फैसला करने का अधिकार महिलाओं का है कि उन्हें क्या पहनना है।” Priyanka Gandhi ने कहा कि इस अधिकार की गारंटी भारतीय संविधान ने दी है। महिलाओं का उत्पीड़न बंद करो।

यह भी पढ़ें – Karnataka : Hijab पर विवाद के चलते अगले तीन दिन बंद रहेंगे सभी स्कूल और कॉलेज

यह भी पढ़ें – Karnataka के College में छात्राओं को हिजाब पहनने पर No Entry

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button