NationalTop Storiesदेश

फिर से एक बार, Corona का प्रहार, 3 स्कूलों के 21 छात्र और टीचर्स संक्रमित

एक बार फिर से Corona virus ने लोगों को अपना शिकार बनाना शुरू कर दिया है। दुनियाभर में Corona virus के नए XE Variant की आहट के बीच भारत में भी एक बार फिर से संक्रमित मरीज़ों का आंकड़ा बढ़ने लगा है। दो साल तक बंद रहने के बाद फिर से खुले स्कूलों में इसका असर देखा जा सकता है।

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद और नोएडा में तीन स्कूलों में अब तक तीन टीचर्स सहित कुल 21 लोग संक्रमित हो चुके हैं। ख़बरों के मुताबिक, गाजियाबाद में दो निजी स्कूलों के 5 छात्रों में Corona virus संक्रमण की पुष्टि हुई है। वहीं, नोएडा के एक स्कूल से Corona संक्रमण के 16 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें तीन टीचर भी शामिल हैं। स्कूलों ने वायरस के संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए ऐहतियाती कदम के रूप में तीन दिनों के लिए स्कूल को बंद करने की घोषणा की है, जबकि उसके बाद स्कूल की छुट्टियां हैं, इसलिए स्कूल 19 अप्रैल से खुलेंगे। वहीं, नोएडा के स्कूल में एक सप्ताह तक ऑनलाइन माध्यम से पढ़ाई होगी।

शासन की तरफ से स्कूलों को Corona मानकों का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके तहत स्कूलों ने भी बच्चों को किसी भी साथी का खाना व पानी की बोतल शेयर नहीं करने की हिदायत दी है। साथ ही बच्चों को दो गज दूरी का पालन करने को भी कहा गया है। साथ ही अगर किसी बच्चे की तबियत खराब होगी, तो उसे इस संबंध में स्कूल को जानकारी देनी होगी।

Corona की तीसरी लहर खत्म होने से प्रदेश सरकार ने अधिकतर पाबंदियां हटा दी हैं। इसके साथ ही स्कूल भी खुल गए हैं। ऐसे में स्कूली छात्रों में Corona फैलने की खबर से बच्चों और अभिभावकों की चिंताएं बढ़ा दी हैं। देशभर में रोजाना Corona संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। यह मरीज घर पर रहकर इलाज करने से सही हो रहे हैं, लेकिन इसी बीच स्कूल खुलने से बच्चों के बीच संक्रमण फैलने का खतरा मंडराने लगा है। हालांकि स्कूल प्रबंधक Corona मानकों का पालन कर रहे हैं। इसको लेकर स्कूलों में पूरी सावधानियां भी बरती जा रही हैं, लेकिन फिर भी छात्रों का Corona संक्रमित होना स्कूल प्रबंधक व अभिभावकों के लिए चिंता की बात बन गई है।

गाजियाबाद के सीएमओ का कहना है कि 12 साल से अधिक उम्र के बच्चों को वैक्सीन लगाई जा रही है। जिले में 15 से 18 वर्षीय किशोरों को वैक्सीन की पहली डोज सौ फीसदी लगाई जा चुकी है, जबकि 61.55 फीसदी किशोरों को दोनों डोज लगाई जा चुकी है। वहीं, 12 से 14 वर्ष के 40.54 फीसदी बच्चों को पहली डोज लगाई गई है। अब इस उम्र के बच्चों को वैक्सीन लगाने के लिए स्कूलों में विशेष कैंप लगाए जाएंगे ताकि सभी बच्चों को वैक्सीन लग सके। वहीं, इस आयु वर्ग को टीके की दूसरी डोज 13 मई से लगनी शुरू होगी।

यह भी पढ़ें – पुलिस और राजस्व की ज़्यादा शिकायतें आने पर CM Yogi हुए सख़्त

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button