BusinessNationalPoliticsTop Storiesदेश

‘अल्पसंख्यक विरोधी’ छवि भारतीय बाज़ार को नुकसान पहुंचा सकती है : Raghuram Rajan

भारत एक ऐसा देश है जहां अच्छी खासी आबादी रहती है। Reserve Bank of India (RBI) के पूर्व गवर्नर Raghuram Rajan ने आगाह किया है कि देश के लिए ‘अल्पसंख्यक विरोधी’ छवि भारतीय प्रोडक्ट्स के लिए बाजार को नुकसान पहुंचा सकती है। इसके चलते विदेशी सरकारें राष्ट्र को अविश्वसनीय साथी मान सकती हैं।

शिकागो के बूथ स्कूल ऑफ बिजनेस के प्रोफेसर ने लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता जैसी साख की ओर इशारा करते हुए कहा कि भारत मजबूत स्थिति से धारणा की लड़ाई में प्रवेश कर रहा है, जिसमें हमें ही नुकसान होगा। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक Raghuram Rajan ने कहा, “अगर हमें लोकतंत्र के रूप में अपने सभी नागरिकों के साथ सम्मानपूर्वक व्यवहार करते हुए देखा जाए, तो हम बहुत अधिक सहानुभूतिपूर्ण हो जाते हैं। (उपभोक्ता कहते हैं) मैं इस देश से सामान खरीद रहा हूं, जो सही काम करने की कोशिश कर रहा है, जिससे हमारे बाज़ार बढ़ते हैं।”

Raghuram Rajan ने कहा कि यह केवल उपभोक्ता नहीं हैं जो इस तरह के विकल्प चुनते हैं कि किसको संरक्षण देना है, बल्कि अंतरराष्ट्रीय संबंधों में गर्मजोशी भी इस तरह की धारणाओं को तय करती है। सरकारें इस आधार पर निर्णय लेती हैं कि कोई देश “विश्वसनीय भागीदार” है या नहीं। यह अपने अल्पसंख्यकों के साथ कैसे पेश आता है।

Raghuram Rajan ने कहा कि चीन उइगरों और कुछ हद तक तिब्बतियों को लेकर भी इस तरह की छवि समस्याओं का सामना कर रहा है, जबकि यूक्रेन को भारी समर्थन मिला है क्योंकि राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की को किसी ऐसे व्यक्ति के रूप में देखा जाता है जो लोकतांत्रिक विचारों की रक्षा के लिए खड़ा होता है, जिस पर दुनिया विश्वास करती है।

यह भी पढ़ें – Corona Update: Delhi-NCR में तेज़ी से बढ़ रहे हैं Corona के मामले

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button