16.1 C
New Delhi
Monday, November 22, 2021

BJP के क्षेत्रीय बूथ सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए आज गोरखपुर पहुंचे पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

गोरखपुर: जेपी नड्डा पार्टी ने कहा कि मेरा ये सौभाग्य है कि मुझे श्रीकृष्ण और श्रीराम की भूमि पर आने का सौभाग्य मिला। पंडित बिस्मिल की शहादत को याद करते हुए मैं इस धरती को नमन करता हूं। महात्मा बुद्ध भी इसी भूमि से सत्य की खोज में निकले थे। यह वही गोरखपुर की धरती है। जब आप चुनाव में जाएंगे तो मतदाताओं के सामने छाती ठोक के कह सकेंगे कि हम उस पार्टी के कार्यकर्ता हैं, जिसके नेता प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी हैं।भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि हमें गौरवान्वित होना चाहिए कि हम उस पार्टी के कार्यकर्ता हैं, जहां साधारण- सा कार्यकर्ता अध्यक्ष बन जाता है।

मैं दावे के साथ कह कहता हूं कि यहां बैठे बूथ कार्यकर्ता कल प्रदेश अध्यक्ष बन सकते हैं। हमें प्रजातंत्र पर विश्वास है, लेकिन विपक्षी पार्टियां प्रजातंत्र पर नहीं सिर्फ परिवार पर विश्वास करती हैं। सिर्फ भारतीय जनता पार्टी में ही एक साधारण कार्यकर्ता पार्टी को चलाता है, हमारे लिए राष्ट्रवाद सर्वोपरि है लेकिन उनके लिए वंशवाद के आगे कुछ नहीं। उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टियां वंशवाद को लेकर चलती हैं और हम राष्ट्रवाद को लेकर। विपक्षी पार्टियों में जो कुछ है, वो वंश के लिए हैं। हम लोग ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास’ को लेकर आगे बढ़ रहे हैं।

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि क्या कारण है कि जब चुनाव आते हैं तो भाजपा महात्मा गांधी से लेकर पटेल को याद करती है और विपक्षी पार्टियों को पाकिस्तान और जिन्ना याद आने लगते हैं। उन्होंने कहा कि जब मोदी जी कह रहे थे कि सब लोग वैक्सीन लगवा लें तो कुछ लोग कह रहे थे कि ये मोदी जी की वैक्सीन है, ये बीजेपी की वैक्सीन है। अब किसकी वैक्सीन लगवा कर घूम रहे हैं, मोदी जी की ही वैक्सीन लगवानी पड़ी है। कुछ दिन बाद लाल टोपी भी केसरिया होने वाली है। बहुत लोग किसान नेता बनते हैं, लेकिन अगर किसी ने किसानों के लिए कुछ किया है तो वह मोदी जी ने किया है।

2014 से पहले 20 हजार करोड़ का बजट होता था, लेकिन मोदी जी के नेतृत्व में आज एग्रीकल्चर का बजट 1 लाख 23 करोड़ का है।भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि यही उत्तर प्रदेश था कि सूर्यास्त के बाद जाे जहां होता था, वह वहीं ठहर जाता था। बहू-बेटियां सुरक्षित नहीं थीं। जिसका जैसा मन आया उसने वैसा किया, लेकिन अब दरिंदे कोर्ट में जाकर अपील करते हैं कि मुझे जेल में डाल दो। ये परिवर्तन योगी जी लेकर आए हैं।इससे पहले क्षेत्रीय बूथ सम्मेलन को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संबोधित किया। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के आंदोलन के दौरान 1857 में शहीद बंधु सिंह ने अपनी शहादत इसी धरती पर दी थी, अनेक क्रांतिकारियों ने समय-समय पर इस अभियान को आगे बढ़ाया।

यही वो धरती है, जहां पंडित राम प्रसाद बिस्मिल ने भारत की स्वाधीनता के लिए अपनी शहादत दी थी, अपना बलिदान दिया था। उन्होंने कहा कि आप देख रहे हाेंगे एक-एक करके सभी समस्याओं का समाधान हो रहा है। यह वही प्रदेश है, जहां माफिया और दंगाइयों का वर्चश्व रहता था। गुंडे आज गुंडई भूल गए हैं, माफिया प्रदेश छोड़ गए हैं, उन्हें मालूम है कि अगर अराजकता की तो वसूली भी होगी।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि एक तरफ भारत की आन-बान और शान की रक्षा के लिए और दुनिया में भारत को एक समर्थ और सशक्त राष्ट्र के रूप में स्थापित करने वाले प्रधानमंत्री जी हैं तो दूसरी तरफ देश-प्रदेश की जनता के हक़ों पर डकैती डालने वाले, जिन्नावादी सोच वाले खड़े दिखाई देंगे।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img