14.1 C
New Delhi
Monday, November 29, 2021

बसपा के कद्दावर नेता तथा विधायक लालजी वर्मा और रामअचल राजभर ने आज समाजवादी पार्टी की सदस्यता ली

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

लखनऊ: 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर बेहद गंभीर समाजवादी पार्टी ने सदस्यता अभियान को भी गति दी है। सोमवार को बहुजन समाज पार्टी के कद्दावर नेता तथा विधायक लालजी वर्मा और रामअचल राजभर ने सोमवार को समाजवादी पार्टी की सदस्यता ली।लखनऊ में सोमवार को समाजवादी पार्टी के प्रदेश कार्यालय में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मायावती के मुख्यमंत्रित्वकाल में कैबिनेट मंत्री रहे लालजी वर्मा तथा रामअचल राजभर को पार्टी की सदस्यता दी। बहुजन समाज पार्टी के दोनों बड़े नेता सोमवार से समाजवादी हो गए। इनके साथ ही बस्ती के त्रयम्बक नाथ पाठक, महेश सिंह, रामकरन चौरसिया, अरविंद सिंह तथा प्रवीन पाठक अपने समर्थकों के साथ समाजवादी पार्टी में शामिल हुए।लालजी वर्मा और रामअचल राजभर ने करीब एक महीना पहले ही समाजवादी पार्टी कार्यालय में अखिलेश यादव से भेंट की थी।

इसके बाद दस अक्टूबर इनके अम्बेडकर नगर में समाजवादी पार्टी में शामिल होने का कार्यक्रम बना था। कार्यक्रम का आयोजन न होने पाने पर आज दोनों ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ली। राम अचल राजभर अकबरपुर से पांच बार विधायक चुने गए हैं। राजभर बड़े कद के नेता हैं। मायावती सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रहे हैं। बसपा के प्रदेश अध्यक्ष व राष्ट्रीय महासचिव भी रहे हैं। लालजी वर्मा अम्बेडकरनगर के कटहरी से बसपा के विधायक हैं। वह भी बड़े कद्दावर नेता हैं। मायावती सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे लालजी वर्मा बसपा के महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं।बहुजन समाज पार्टी ने पूर्व कैबिनेट मंत्री लालजी वर्मा के साथ रामअचल राजभर को अक्टूबर 2020 में पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण पार्टी से निष्कासित कर दिया था। इसके बाद बीती जून में लालजी वर्मा के साथ रामअचल राजभर के सपा में शामिल होने की चर्चा ने जोर पकड़ा।

विधायक लालजी वर्मा व रामअचल राजभर के समाजवादी पार्टी में शामिल होने के बाद समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ सरकार के साथ भाजपा पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के समय जिस समय जनता को दवाई की जरूरत थी जिस समय उत्तर प्रदेश की जनता को इलाज की जरूरत थी, जिस समय उत्तर प्रदेश की जनता को ऑक्सीजन की जरूरत थी, उस समय उत्तर प्रदेश की सरकार कहां थी। उन्होंने कहा कि इतना ही नहींं प्रदेश में किसान परेशान है, धान की खरीद नहीं हो रही है। मजबूरी में किसान को अपना धान जलाना पड़ा है। आय बढ़ाने वालों ने महंगाई दोगुनी कर दी है। समाजवादी पार्टी की सरकार बनने पर हम उत्तर प्रदेश को विकास के रास्ते पर लाएंगे।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here