14.1 C
New Delhi
Monday, November 29, 2021

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज उत्तर प्रदेश स्थित कुशीनगर को अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की दी सौगात

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

कुशीनगर: 589 एकड़ में 260 करोड़ की लागत से बने इस हवाई अड्डे के लोकार्पण के साथ उत्तर प्रदेश सर्वाधिक हवाई अड्डा वाला प्रदेश बन गया है। यह उत्तर प्रदेश का तीसरा और सबसे लंबे रनवे वाला एयरपोर्ट भी है। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि कुशीनगर एयरपोर्ट बनने से किसानों, दुकानदारों, उद्यमियों को लाभ मिलेगा। उन्होंने महापरिनिर्वाण स्थल में बुद्ध प्रतिमा पर चीवर चढ़ाया और भिक्षुओं को चीवर दान किया। पीएम मोदी ने अभिधम्म समारोह को भी संबोधित किया। इसके बाद प्रधानमंत्री यहां 180.6 करोड़ रुपये की लागत से 12 परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण और 281 करोड़ रुपये से बनने वाले मेडिकल कालेज का शिलान्यास किया।राजकीय मेडिकल कॉलेज और परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भोजपुरी में अपना संबोधन शुरू किया। उन्होंने लोगों को बधाई देते हुए कहा कि आप सभी का आज बहुत बड़ा सपना पूरा हो गया है।

यहां से हवाई जहाज उड़ेगा और मेडिकल कालेज में लोगों का इलाज होगा। इन नई परियोजनाओं से पूरे क्षेत्र की तस्वीर बदलने वाली है। मेडिकल कालेज से बिहार के सीमावर्ती क्षेत्रों को भी लाभ मिलेगा। डाक्टर बनने का सपना पूरा होगा। इसमें अब भाषा अवरोध नहीं बनेगी। नई शिक्षा नीति में यह व्यवस्था की गई है। जब मूलभूत सुविधाएं मिलती हैं तो सपने पूरा करने का जज्बा बढ़ता है। सुविधाओं ने गरीबों का आत्मविश्वास बढ़ाया है। आज केंद्र और यूपी की सरकार मिलर विकास कर रही है। डबल इंजन की सरकार दमदार से कार्य कर रही है। योगी जी की पूर्व की यूपी की सरकार का जनता से कोई मतलब नहीं था।राजकीय मेडिकल कॉलेज और परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास अवसर पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कुशीनगर के लोगों के सपनों को विकास की नई उड़ान दी है। आज उत्तर प्रदेश में नए मेडिकल कालेजों की श्रंखला खड़ी हो रही है।

कुशीनगर के लिए मेडिकल कालेज अति महत्वपूर्ण है, क्योंकि कुशीनगर के अंदर हम लोगों ने बच्चों को दिमागी बुखार से मरते हुए देखा है। पूर्वांचल में स्वास्थ्य सेवा के नाम पर केवल एक मेडिकल कालेज था और वह गोरखपुर का बीआरडी मेडिकल कॉलेज। मैं तो कहता हूं कि अगर बीआरडी मेडिकल कालेज में पहिए होते, तो पिछली सरकारें उसे कहीं दूसरी जगह लेकर चली गई होतीं।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अभिधम्म समारोह में कहा कि हमने ज्ञान, महान संदेशों और महान आत्माओं के विचारों को बांधने में कभी भरोसा नहीं किया है। हमारा जो कुछ भी था, उसे मानवता के लिए मम भाव से अर्पित किया है। दुनिया में जहां-जहां भी बुद्ध के विचारों को आत्मसात किया गया, वहां कठिन परिस्थितियों में भी प्रगति के रास्ते बने। अगर हम बुद्ध के संदेश को अपना लेते हैं तो सद्कर्म का मार्ग प्रशस्त हो जाता है। अहिंसा, दया, करुणा ऐसे मानवीय मूल्य आज भी उतनी ही सहजता से भारत के अंतर्मन में रचे बसे हैं। बुद्ध आज भी भारत के संविधान की प्रेरणा हैं। बुद्ध का धम्म चक्र भारत के तिरंगे पर विराजमान होकर हमें गति दे रहा है।

भगवान बुद्ध ने कहा था- ‘अप्प दीपो भव’। यानी, अपने दीपक स्वयं बनो। जब व्यक्ति स्वयं प्रकाशित होता है तभी वह संसार को भी प्रकाश देता है। यही भारत के लिए आत्मनिर्भर बनने की प्रेरणा है। बुद्ध इसीलिए ही वैश्विक हैं क्योंकि बुद्ध अपने भीतर से शुरुआत करने के लिए कहते हैं।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि भगवान बुद्ध की कृपा से आज के दिन कई अलौकिक संयोग एक साथ प्रकट हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि बुद्ध के संदेश पूरी मानवता के कल्याण के लिए हैं। अलग-अलग देश और अलग-अलग परिवेश, लेकिन मानवता की आत्मा में बसे भगवान बुद्ध सबको जोड़ रहे हैं। भारत ने भगवान बुद्ध की इस सीख को अपनी विकास यात्रा का हिस्सा बनाया है। एक तरीके से भारत ने इसे अंगीकार किया है।अभिधम्म दिवस पर प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कुशीनगर के महापरिनिर्वाण स्थल पहुंचे। उन्होंने भगवान बुद्ध के दर्शन किए। उन्होंने गुजरात और वडनगर से जुड़े बौद्ध अवशेष देखा। उत्खनन का कार्य 1953 मे शुरू हुआ था। महापरिनिर्वाण परिसर में लगी प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया।

महापरिनिर्वाण स्थल पहुंचे और दीप प्रज्ज्वलित किया। बौद्ध भिक्षु भदंत एबी ज्ञानेश्वर ने पीएम, सीएम और राज्यपाल को चीवर प्रसाद में दिया। पीएम मोदी ने 130 करोड़ देशवासियों की तरफ से चीवर दान किया।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भगवान बुद्ध से जुड़े स्थानों को विकसित करने के लिए, बेहतर कनेक्टिविटी के लिए, श्रद्धालुओं की सुविधाओं के निर्माण पर भारत द्वारा आज विशेष ध्यान दिया जा रहा है। कुशीनगर का विकास, यूपी सरकार और केंद्र सरकार की प्राथमिकताओं में है। उड़ान योजना के तहत बीते कुछ वर्षों में 900 से अधिक नए रूट्स को स्वीकृति दी जा चुकी है, इनमें से 350 से अधिक पर हवाई सेवा शुरू भी हो चुकी है। 50 से अधिक नए एयरपोर्ट या जो पहले सेवा में नहीं थे, उनको चालू किया जा चुका है।

अश्विन पूर्णिमा पर बुधवार को श्रीलंका के मंत्रियों व बौद्ध भिक्षुओं का प्रतिनिधिमंडल अपने साथ भगवान बुद्ध की पवित्र अस्थियां लेकर कुशीनगर पहुंच गया है। भगवान बुद्ध की महापरिनिर्वाण स्थली पर अस्थिकलश का विशेष पूजन होगा। इसके बाद प्रतिनिधिमंडल अस्थिकलश को लेकर सारनाथ जाएगा। वहां भी पूजन होगा।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंगलवार को ट्वीट कर कहा कि कल हमारे बुनियादी ढांचे और नागरिक उड्डयन क्षेत्र के लिए एक विशेष दिन है। कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन कोलंबो से उद्घाटन उड़ान के साथ होगा, जिसके यात्रियों में सम्मानित भिक्षुओं का एक समूह शामिल है। इस एयरपोर्ट से यूपी और बिहार को फायदा होगा। 20 अक्टूबर को मैं कुशीनगर की पवित्र भूमि में विभिन्न विकास कार्यों का उद्घाटन करने के लिए रहूंगा, जो आगे ‘ईज ऑफ लिविंग’ और विशेष अभिधम्म दिवस को चिह्नित करते हैं।

 

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img