25.1 C
New Delhi
Friday, September 10, 2021

श्री रामजन्मभूमि चंदा अभियान के लिए बना एक विशेष एप, जिसके ज़रिये रखी जाएगी सबपर नज़र

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

अयोध्या; भव्य राम मंदिर निर्माण कार्य की तैयारी ज़ोरो शोरो से आगे बढ़ रही है। राम मंदिर नर्माण के लिए चंदा अभियान की शुरुआत आज से कर दी गई है।

राममंदिर निर्माण में दश भर के लोगों की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए पूरे देश में 15 जनवरी से श्रीराम जन्मभूमि निधि समर्पण अभियान का शुभारंभ होने जा रहा है। इस अभियान के तहत 27 फरवरी तक देश के 13 करोड़ परिवारों से संघ व उसके अनुषांगिक संगठनों के 40 लाख कार्यकर्ता जनसंपर्क कर राममंदिर निर्माण के लिए इच्छा अनुसार समर्पण मांगेंगे।

बता दें, यह विश्व का सबसे बड़ा अभियान होगा। जिसके लिए देश के लाखों कार्यकर्ता और देश की आधी आबादी तक जाएंगे।

आपको बता दें, इस अभियान की मॉनीटरिंग के लिए एक विशेष एप भी बनाया गया है। इस विशेष एप में एक-एक रसीद के बारे में रियल टाइम जानकारी होगी। अभियान में लगी टोलियों के साथ ही संग्रह की गई धनराशि व अन्य जानकारियां होंगी।

इसमें राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत कई विपक्ष के नेताओं के साथ ही मजदूर व किसानों से भी समर्पण निधि ली जाएगी। या यूँ कहा जा सकता है कि हर रामभक्त से सहयोग राशि ली जाएगी। अभियान में देश के कुल साढ़े छह लाख में से सवा पांच लाख गांवों के 13 करोड़ से अधिक परिवारों के 65 करोड़ लोगों से संपर्क करने का लक्ष्य है। इसमें 10 लाख टोलियों में 40 लाख से अधिक कार्यकर्ता घर-घर जाएंगे। एक टोली में पांच कार्यकर्ता होंगे और हर चार टोलियों पर एक जमाकर्ता होगा।

बता दें, हर जमाकर्ता द्वारा रोजाना पूर्व निर्धारित तीन बैंकों में जमा कराई गई राशि की जानकारी भी प्रतिदिन इस ऐप के माध्यम से मिलेगी। विश्व हिंदू परिषद ने महानगर के विभिन्न क्षेत्रों में कार्यालय स्थापित किए हैं।

इस अभियान के माध्यम से देेश के करोड़ों रामभक्तों का डाटा भी तैयार किए जाने की योजना है। ट्रस्ट की ओर से 10, 100 व 1000 रुपयों के कूपन जारी किए गए हैं। इसके ऊपर की राशि पर रसीद दी जाएगी। रसीद व कूपन देने के साथ समर्पणकर्ता का नाम, पता व मोबाइल नंबर संग्रहित किया जाएगा जिसपर ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंददेव गिरि के हस्ताक्षर होंगे।

वहीं, 20 हजार से अधिक की राशि अकाउंट पेई चेक या बैंक ट्रांसफर द्वारा ही स्वीकार्य होगी। इसमें प्रभु राम की एक तस्वीर, राम मंदिर का मॉडल व ट्रस्ट का लोगो भी छपा है।

ध्यान दीजिये, बिना रसीद या कूपन के कोई राशि नहीं ली जाएगी। जो राशि ली जाएगी वह प्रतिदिन पंजाब नेशनल बैंक, भारतीय स्टेट बैंक व बैंक ऑफ बड़ौदा की देश भर में फैली 46 हजार शाखाओं में प्रतिदिन जमा कराई जाएगी।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img