33.1 C
New Delhi
Tuesday, September 21, 2021

सौमेंदु अधिकारी का टीएमसी पर बड़ा वार, कहा -अब वो पार्टी नहीं बची, काम करना मुश्किल हो गया था

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

बंगाल में जैसे जैसे विधानसभा चुनाव जल्द ही होने वाले है। जिसको लेकर सभी पार्टी ने अपनी कमर कास ली है, साथ ही सभी पार्टी के बीच बयान बाजी और आरोप प्रतयारूप का सिलसिला भी तेज होता जा रहा है।

इस बीच तृणमूल कांग्रेस के सांसद और बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी के छोटे भाई सौमेंदु अधिकारी ने टीएमसी पर निशाना साधा है। आप को बता दे कि उन्होंने हाल ही में बीजेपी का दामन थाम लिया था। इससे पहले उनके भाई शुभेंदु ने भी बीजेपी जॉइन किया था।

सौमेंदु अधिकारी ने जब से बीजेपी पार्टी ज्वाइन की है उसके बाद से ही अक्सर टीएमसी पर निशाना साधते हुए नजर आ रहे है। हाल ही में सौमेंदु अधिकारी ने टीएमसी पर निशाना साधते हुए कहा कि टीएमसी अब पार्टी नहीं बची। उसमें काम करना मुश्किल हो गया था।

उन्होंने अपने आरोप में आगे कहा कि 15 सदस्यों वाली कोन्टाई नगरपालिका में मेरे साथ 15 सदस्य हैं। इसके बाद भी मुझे हटा दिया गया। जबकि, कोर्ट ने उसे अवैध करार दिया है। फिलहाल मामला कोर्ट में है।

मीडिया द्वारा बीजेपी जॉइन करने को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा की अभी बीजेपी जॉइन की है। आगे जो भी जिम्मेदारी मिलेगी उसे पूरी ईमानदारी से निभाऊंगा।

उन्होंने पीएम मोदी के बारे में कहा पीएम मोदी तो सबके फेवरेट हैं। साथ ही पीएम मोदी के कुशल नेतृत्व का भी जिक्र किया। उन्होंने टीएमसी पर निशाना साधते हुए कहा कि बंगाल के लोग अब टीएमसी को हार का स्वाद चखना चाहते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि बंगाल की जनता टीएमसी को हराने के लिए तैयार बैठा है। वहीं, उन्हें अपने पिता और भाई के लिए कहा वे दोनों का हमपर कोई दबाव नहीं है और ना ही मेरे ऊपर उनका कोई दबाव है।

हाल ही में शुभेंदु अधिकारी ने टीएमसी का दामन छोड़ दिया था और बीजेपी में शामिल हो गए थे। इसके बाद शुभेंदु अधिकारी लगातार टीएमसी और ममता बनर्जी सरकार पर हमलावर हैं। वहीं अब टीएमसी भी पार्टी से अधिकारी परिवार को दूर कर रही है।

इसी क्रम में शुभेंदु अधिकारी के पिता शिशिर अधिकारी को ईस्ट मिदनापुर के जिला प्रमुख के पद से हटा दिया गया है। मिली जानकारी के अनुसार, शिशिर अधिकारी को जिले का चेयरमैन बनाया गया है।

ये पद सम्मान के लिए दिया गया है। चेयरमैन पद की कोई पावर नहीं होती है। जिला प्रमुख के पद की ही पावर होती है। इससे पहले शिशिर अधिकारी को दीघा शंकरपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी के अध्यक्ष पद से भी हटाया गया था।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img